भगवान की माया के दर्शन

सुदामा ने एक बार श्रीकृष्ण ने पूछा कान्हा, मैं आपकी माया के दर्शन करना चाहता हूं… कैसी होती है?” श्री कृष्ण ने टालना चाहा, लेकिन सुदामा की जिद पर श्री कृष्ण ने कहा, “अच्छा, कभी वक्त आएगा तो बताऊंगा। और…

Read More

अटूट विश्वास

रात के ढाई बजे था, एक सेठ को नींद नहीं आ रही थी, वह घर में चक्कर पर चक्कर लगाये जा रहा था। पर चैन नहीं पड़ रहा था । आखिर थक कर नीचे उतर आया और कार निकाली शहर…

Read More

परिवर्तन

परिवर्तन ♦ एक राजा को राज भोगते हुए काफी समय हो गया था । बाल भी सफ़ेद होने लगे थे । एक दिन उसने अपने दरबार में एक उत्सव रखा और अपने गुरुदेव एवं मित्र देश के राजाओं को भी…

Read More

राहु की दशा चिन्ता औलाद और धन में धुंआ

राहु १९वीं साल में जरूर फ़ल देता है यह एक अकाट्य सत्य है कि किसी कुन्डली में राहु जिस घर में बैठा है,१९ वीं साल में उसका फ़ल जरूर देता है,सभी ग्रहों को छोड कर यदि किसी का राहु सप्तम…

Read More

नक्षत्र -योनी – गण -नाड़ी सामान्य चरित्र, व्यवसाय व मुहूर्त

नक्षत्र -योनी – गण -नाड़ी व सामान्य चरित्र, व्यवसाय व मुहूर्त 1. अश्विनी – अश्व – देव- अद्य सामान्य चरित्र: चतुर, बुद्धिमान, कुशल, चिड़चिड़ा, लोकप्रिय। व्यवसाय: चिकित्सक, वास्तुकला, स्टॉक ब्रोकिंग, इंटीरियर डिजाइन, उड़ान, ड्राइविंग, घुड़सवारी और खेल यह मुहूर्त विद्या…

Read More

लग्न का राहु

लग्न का राहु लग्न में यदि राहु हो तो जातक वहमी हो जाता है, शक करने की आदत हो जाती है, यदि कोई शख्श जातक को कुछ सही राह या बात बताता है तो उसकी बात भी जातक को झूठी…

Read More

अवैध सम्बन्ध

अवैध सम्बन्ध अवैध सम्बन्ध थोड़े समय के लिए ही बनते है, परन्तु ये पति पत्नी का पूरा जीवन को बर्बाद कर देते है. व्यक्ति ग्रहो का गुलाम है और व जीवन मे अपने जीवन साथी को चाहते हुए भी किसी…

Read More