अवैध सम्बन्ध

अवैध सम्बन्ध

अवैध सम्बन्ध थोड़े समय के लिए ही बनते है, परन्तु ये पति पत्नी का पूरा जीवन को बर्बाद कर देते है. व्यक्ति ग्रहो का गुलाम है और व जीवन मे अपने जीवन साथी को चाहते हुए भी किसी अन्य से कुछ समय का लिए सम्बन्ध बना लेता है ।

1 -अष्टम स्थान का राहू अवैध सम्बन्ध बनवाता है.

2 – सप्तम भाव में चन्द्रमा व शनि की युति।

3-चन्द्रमा जिस स्थान में बैठा है उससे अगले घर में शुक्र हो तो प्रभावित व्यक्ति चतुर होता है और भौतिक सुखों को प्राप्त करता है। लेकिन इनमें सौन्दर्य के प्रति गजब का आकर्षण होता है। काम भावना भी इनकी प्रबल होती है !

4-शनि और शुक्र एक साथ एक घर में होते हैं उनके वैवाहिक जीवन अन्य स्त्री के कारण कलह की संभावना अधिक रहती है।

5-शुक्र गृह अगर मंगल के मेष या वृश्चिक राशि में बैठा हो तो परायी स्त्री से निकटता की संभावना काफी ज्यादा रहती है।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *